दुनिया का हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसका और उसके परिवार का जीवन खुशहाली से बीते। इसके लिए वह हर संभव प्रयास करता है। लेकिन जैसा की कहा गया है कि चीज इंसान के हाथ में नहीं होती है। हर बार वही नहीं हो पाता है, जो वह चाहता है। कई बार वर्तमान और भूत की गलतियों की वजह से घर की खुशियों पर नजर लग जाती है। देखते ही देखते घर की खुशियाँ छीन जाती हैं। वास्तुशास्त्र के ऐसी विद्या है जो इंसान के रहन-सहन के बारे में बताता है।

वास्तु नियमों की अवहेलना करने पर परेशानियाँ कदम रखती हैं जीवन में:

इसमें कुछ ऐसे कारणों के बारे में बताया गया है, जिससे लोगों के जीवन में परेशानी आती है। जो लोग वास्तु नियमों का पालन करते हैं, वह एक खुशहाल जिंदगी जीते हैं, इसके उलट जो वास्तु नियमों की अवहेलना करते हैं, उनके जीवन में कई तरह की परेशानियाँ कदम रख देती हैं। व्यक्ति अनजाने में ही कुछ काम करता है, जिससे घर की खुशियों पर ग्रहण लग जाता है। आज हम आपको कुछ ऐसे कामों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

भूलकर भी ना करें ये काम:

*- ज्यादातर लोग रात के समय खाना खाते समय दूध, दही और सलाद में प्याज का इस्तेमाल करते हैं, जबकि वास्तु के अनुसार सूर्यास्त के बाद इन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। केवल सेवन ही नहीं बल्कि सूर्यास्त के बाद इन चीजों को किसी को देना भी नहीं चाहिए। इससे घर की खुशियाँ धीरे-धीरे ख़त्म हो जाती हैं।

*- हर रोज नहीं तो कम से कम महीने में एक बार मिश्री डालकर घर में खीर बनायें। ऐसा माना जाता है कि इससे घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम बना रहता है। इस खीर को घर के सदस्यों के साथ मिलकर खाएं। ऐसा करने से घर पर माँ लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहती है।

*- कुछ लोगों की आदत होती है कि वह कोई भी फल खाने के बाद उसके छिलके को घर में रखे कूड़ेदान में फेंक देते हैं, जबकि वास्तुशास्त्र में इसके लिए माना किया गया है। छिलकों को घर के बाहर फेंके, अगर हो सके तो तुरंत किसी गाय या अन्य जानवर को खिला दें, इससे तुरंत लाभ मिलने लगता है।

*- हर घर में रोज पोछा लगता है। घर में सप्ताह में एक बार पानी में सेंधा नमक डालकर पोछा लगायें। यह वास्तु की दृष्टि से शुभ होता है। ऐसा करने से घर की नकारात्मक उर्जा दूर हो जाती है।