हिन्दू धर्म मा माँ लक्ष्मी को धन की देवी कहा गया है। इनकी उपासना करने वाले को जीवन में कभी भी धन-दौलत की कमी नहीं होती है। इसके अलावा जव किसी व्यक्ति पर माँ लक्ष्मी की कृपा होती है तो उसे जीवन में किसी अन्य चीज की कमी नहीं होती है। माँ लक्ष्मी के कुछ ऐसे मंत्र हैं, जिनका जाप करने पर घर-बार धन-दौलत से हर समय भरा रहता है। इन मंत्रों को राशि के अनुसार जपना ज्यादा लाभकर होता है।

अपने सामर्थ्य के अनुसार जाप करें मन्त्रों का:

हालांकि इनका जाप करने के लिए कोई विशेष नियम नहीं है। प्रातः काल जागकर सभी दैनिक क्रियाओं से निवृत्त होने ने बाद ऊन या कुशासन पर बैठकर पहले धूप, दीप, अगरबती जलाएं उसके पश्चात् अपनी सामर्थ्य के अनुसार निम्न मन्त्रों का अपनी राशि के अनुसार 3-5 माला जाप करें। इसका प्रभाव आपको जल्द ही दिखाई देने लगेगा और आपको जीवन में सुख-समृद्धि के साथ साथ मान-सम्मान भी मिलने लगेगा।

राशि के अनुसार जाप करें इन मन्त्रों का:

*- मेष:


मंत्र: श्रीं

*- वृषभ:

मंत्र: ॐ सर्वबाधा विर्निमुक्तो धनधान्यसुतान्वित:, मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय:

*- मिथुन:


मंत्र: ॐ श्रीं श्रीये नम:

*- कर्क:

मंत्र: ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात् ॐ

*- सिंह:

मंत्र: ॐ श्रीं महालक्ष्म्यै नम:

*- कन्‍या:

मंत्र: ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं महालक्ष्मी नम:

*- तुला:

मंत्र: ॐ श्रीं श्रीय नम:

 

*- वृश्चिक:

मंत्र: ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नम:

*- धनु:


मंत्र: ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:

*- मकर:


मंत्र:  ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं सौं ॐ ह्रीं क ए ई ल ह्रीं ह स क ह ल ह्रीं सकल ह्रीं सौं ऐं क्लीं ह्रीं श्री ॐ

*- कुंभ:

मंत्र: ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नमः स्वाहा

*- मीन:

मंत्र: ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम: