जैसा की हम सभी जानते है की हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बहुत ही साफ छवि के महान पुरुष है आज के समय में पूरी दुनिया इनको अपना आदर्श मानती है, प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के जीवन की हर छोटी बड़ी बातें चर्चा का विषय रहती है. हमेशा से ही उनके विरोधी उन्हें उनकी पत्नी के नाम पर घेरने की कोशिश करते है. नरेंद्र मोदी के शादी के बारे में कई बातें सुनने को मिलती है. प्रधानमन्त्री मोदी के बारे में वैसे तो बहुत सारी बातें कही जाती है लेकिन एक ऐसी बात है जो हर कोई मानता है वो है लोगों को खुद से जोड़ने की क्षमता. उनके विरोधी जब उनकी बुराई भी करते है तो यही कहते है कि वो लोगों को अपने साथ बस जोड़ के रखते है बस बाकी काम कुछ नहीं करते वो काम कितना करते है ये तो देश जनता बता ही रही है. इसके लिए न ही किसी उनके पक्षकारी से मिलने की जरुरत है और न ही किसी विरोधी की सुनने की.

देश के 19 राज्यों के साथ केंद्र में भी बीजेपी की सरकारे है. बीजेपी की सरकार जहाँ जहाँ है वह देश वाशियों के लिए हर संभव कानून बनाये जा रहे है. सरकार जनता के लाभ वाले कई तरह के काम करती है. लेकिन अक्सर विरोधी उनके खर्च को लेकर उन्हें घेरने की कोशिश करती है. ऐसे में हम आप को बता रहे है कि प्रधानमंत्री मोदी के एक दिन के खाने का खर्च कितना होता है.

आरटीआई द्वारा मांगी गयी जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री अपना प्रतिदिन का व्यक्तिगत खर्चा खुद वहन करते हैं इसके लिए वो किसी भी तरह की कोई सरकारी मदद नही लेते हैं,अत: प्रधानमंत्री का खुद पर सरकारी खर्च जीरो होता है.प्रधानमंत्री मोदी ने अब तक कार्यकाल के दौरान कोई भी छुट्टी नही ली हैं.प्रधानमंत्री के निजी सोशल मीडिया अकाउंट खुद हैंडल करते हैं जबकि पीएमओ के खातों की निगरानी कई लोगो की टीम करती हैं.

हालांकि आरटीआई में मोदी से मांगी गयी कई जानकारी साझा नही गयी जिसमे,उनकी दिनचर्या,उनकी डिग्री,उनको सलाह कौन देता हैं,इन सब के पीछे सुरक्षा कारणों को दर्शाया गया हैं.