जैसा की हम सभी जानते है की समाज में रह रहे सभी व्यक्तियों के बीच कोई न कोई रिश्ता होता है जो इनको एक दुसरे से बांधे रखता है इस रिश्तो में जो  महान रिश्ता है वो है माँ और बेटे का रिश्ता जिसके बारे में कहा जाता है की पूत कपूत बन सकता है लेकिन माता कुमाता नहीं बन सकती लेकिन आपको बता दे की ये सच हो चुका है आज हम आपको ऐसी ही खबर से रूबरू करवाने वाले है जिसमे की एक माँ ने अपने बच्चे को मौत के घाट उतार दिया ,तो आइये जाने की पूरा मामला क्या है !

आपकी जानकारी के लिए बता दे की ये मामला  जनपद के शायर गांव का है जन्हा पर एक कलयुगी माता ने अपनी हवस की भूख मिटाने के लिए अपने ही बेटे की हत्या करा दी मिली जानकारी के अनुसार 10 तारीख की रात को गहमर थाना के गांव में रहने वाली संतरा देवी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने बेटे प्रवीण कुमार की हत्या कर दी इस बच्चे की उम्र आठ साल थी !बता दे की संतरा देवी का पति सुभाष यादव ट्रक चालक है जो घर पर कम टिकता था !

बता दे की इस कहानी की शुरुआत संतरा देवी के पैतृक गांव सभा सौरी से ही शुरू हुई थी जन्हा की संतरा अपने पडोसी  बरमेंद्र यादव से प्यार करती थी यह रिश्ता शादी के बाद भी बना रहा और यह पडोसी इनसे मिलने आया करता था हत्या के दिन भी वो आया था ,रात में ही प्रवीण की नींद टूट गई और उसने संतरा देवी और बरमेंद्र यादव को आपत्ति जनक अवस्था मे देख लिया पोल खुलने के डर से दोनों ने प्रवीण कुमार की हत्या कर दी! गाजीपुर पुलिस ने संतरा देवी, बरमेंद्र यादव और उसके साथी जितेंद्र यादव को बारा बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया जो कहीं भागने की फिराक में थे।सभी अभियुक्तों को पुलिस हिरासत में भेज दिया है।