इस समय देश में सबसे ज्यादा राम रहीम और उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की चर्चा हो रही है। पूरा देश दोनों के संबंधों के बारे में जान चुका है। राम रहीम ने बाप-बेटी के रिश्ते को भी कलंकित किया है। पहली बार डेरे के प्रवक्ता ने राम रहीम की मुंहबोली बेटी के बारे में बयान देकर सबको चौका दिया है। प्रवक्ता ने कहा कि उनका हनीप्रीत से कोई लेना-देना नहीं है। आखिर उन्होंने ऐसा क्यों कहा, यह एक बड़ा सवाल है।

हनीप्रीत कर दे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण:

डेरे की चेयरपर्सन विपासना का कहना है कि 25 अगस्त के बाद से हनीप्रीत का डेरे से कोई लेना-देना नहीं है। हनीप्रीत को पुलिस के आगे आत्मसमर्पण कर देना चाहिए। जिस दिन राम रहीम को सुनारिया जेल ले जाया गया था, उसके साथ हनीप्रीत भी जेल गयी थी। रात को लगभग 10 बजे वह 3 डेरा प्रेमियों के साथ गयी थी। ये डेरा प्रेमी अपनी जिम्मेदारी पर हनीप्रीत को अपने साथ ले गए थे।

उनकी मर्जी से ले जा रहे हैं सही सलामत:

हनीप्रीत ने जेल प्रशासन को लिखित चिट्ठी दी थी कि, “मैं हनीप्रीत इंसा पुत्री गुरमीत राम रहीम इंसा सही सलामत हूँ और विकास निवासी 3/783 फतेहाबाद के साथ जा रही हूँ।“ उसी पत्र पर निचे डेरा प्रेमी जीतेन्द्र, संजय चावला और वेद प्रकाश ने भी लिखा था कि, बाबा राम रहीम की पुत्री हनीप्रीत इंसा को अपनी जिम्मेदारी से और उनकी मर्जी से सही सलामत ले जा रहे हैं। उन्हें उनके घर तक पहुँचाने की जिम्मेदारी हमारी है।

हनीप्रीत को गिरफ्तार किया गया मुंबई से:

रविवार रात से यह चर्चा चल रही है कि हरियाणा पुलिस और मुंबई पुलिस के जॉइंट ऑपरेशन में हनीप्रीत को मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतर्रा हवा अड्डे से गिरफ्तार कर लिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को उसे पुलिस पंजाब लाकर कोर्ट में पेश करने वाली थी। लेकिन पुलिस अधिकारीयों ने इस गिरफ्तारी की कोई पुष्टि नहीं की है। राम रहीम के जेल जानें के बाद से हनीप्रीत गायब चल रही थी। इसके बाद हनीप्रीत के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज करके पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी। पुलिस ने हनीप्रीत की तलाश के लिए नेपाल बॉर्डर इलाके में भी छापेमारी की थी।